पेंट एप्लीकेशन

प्रयोग की जाने वाली फिनिश के प्रकार से एप्लीकेशन का विकल्प प्रभावित हो सकता है। कम्प्रेस्ड एयर स्प्रेइंग के लिए तैयार की गई फिनिश कम्प्रेस्ड एयर-हॉट स्प्रेइंग या थिनर के साथ एडजस्टमेंट के साथ एयरलेस स्प्रेइंग के लिए उपयुक्त होती है। कुछ प्रकार की फिनिश, एप्लीकेशन की खास विधि के लिए अनुपयुक्त या अव्यावहारिक हो सकती हैं। उदाहरण के लिए, कुछ ही मिनटों की 'पॉट लाइव्स' के साथ कुछ कैटालाइज्ड फिनिश हॉट स्प्रेइंग एप्लीकेशन के लिए जोखिम भरी हो सकती है। एक अच्छी फिनिशिंग प्रणाली सही उपकरण, सामग्रियों और प्रोसेसिंग तकनीक पर निर्भर करती है, और इस प्रकार उपकरण के आपूर्तिकर्ता, पेंट के निर्माणकर्ता और उपयोगकर्ता के बीच में एक बेहतर सहयोग अपेक्षित होता है।

 

ब्रश एप्लीकेशन

असीमित भिन्न भिन्न स्थितियों और परिस्थितियों में ब्रशिंग सबसे पुरानी और विविधतापूर्ण एप्लीकेशन विधि है। बड़ी जटिल वस्तुओं पर पेंट करने का यह आज भी सबसे अच्छा तरीका है। ब्रशिंग से पेंट अंदर प्रवेश कर जाता है और पेंट की बर्बादी नहीं होती है। इसका प्रयोग मुख्य रूप से सजावट और रख रखाव के लिए किया जाता है।

ब्रश चुनना

सबसे अच्छी गुणवत्ता के ब्रश सूअर के बालों से तैयार किए जाते हैं। ये बाल ऊपर से नीचे की ओर पतले होते चले जाते हैं, जहां पर प्रत्येक बाल दो हिस्सों में बंट जाता है, ताकि इनसे सूक्ष्म लड़ियां (स्ट्रैन्ड्स) जिन्हें फ्लैग कहा जाता है, प्राप्त की जा सकें जिनसे सहज और चिकनाई युक्त फिनिश प्राप्त होती है।

किफ़ायती ब्रश तैयार करने में पशु के बाल या वेजिटेबल फाइबर्स का इस्तेमाल किया जाता है। नाइलॉन के बालों से तैयार ब्रश भी उपलब्ध हैं। ये ब्रश, सूअर से बालों से तैयार ब्रश की तुलना में अधिक समय तक उपयोग किए जा सकते हैं, लेकिन ये स्मूथ और नॉन-एब्सार्वेंट होते हैं। इसलिए, उनमें पेंट को वहन करने की क्षमता कम होती है और ब्रश के साथ इनमें ओवर-स्पिल की संभावना होती है।

ब्रश हमेशा किए जाने वाले काम के लिए उपयुक्त आकार का चुनें। बड़े हिस्से पर प्रयोग करने के लिए छोटे ब्रश के इस्तेमाल से एक समान कोटिंग करने में परेशानी होती है और काम धीमी गति से होता है; जबकि संकरें हिस्सों पर बड़े ब्रश के इस्तेमाल से सही जगह पर पेंट करना असंभव हो जाता है। 

ब्रश का प्रयोग और रख रखाव

नए ब्रश के बालों में धूल होती है और फिनिश कार्य के लिए इस्तेमाल करने से पहले इन्हें अवश्य धोया जाना चाहिए। नए ब्रश की धुलाई के लिए साबुन वाले पानी का इस्तेमाल किया जा सकता है। पेंट ब्रश अधिक बेहतर काम करता है यदि इसे " ब्रोकन इन" यानी बालों के टिप को एक समान किया गया होता है। पेंट को ब्रश की पूरी मोटाई में वितरित करने के लिए ब्रश को "वाश्ड इन" अवश्य किया जाना चाहिए। ब्रश को पेंट में डुबाया जाता है और इसे पात्र की दीवारों के साथ रगड़ा जाता है। पेंटिंग का काम पूरा हो जाने के बाद, ब्रश पर लगे फालतू पेंट को कंटेनर में डाल दें, और इसे बिना धार वाले पुटी चाकू से खुरच कर साफ़ करें। इसे उपयुक्त सतह पर रगड़ें और थिनर से धोएं और "घुमाते हुए" सुखाएं। इसे साबुन के पानी से अच्छे से धोएं और सूखने के लिए छोड़ दें।

 

ब्रशिंग तकनीक

  • बिना समय गंवाए पेंट के एक समान फ़ैलाव के लिए छोटे हिस्से से शुरू करें। अन्यथा, ब्रश के निशान ज़रूर दिखाई देने लगेंगे।
  • सभी स्ट्रोक्स के लिए ब्रश का दबाव एक समान होना चाहिए ताकि पेंट आसानी से सतह के अंदर चला जाए।
  • समतल बनाने और ब्रश के निशान दूर करने के लिए, बहुत ही कम दबाव के साथ "लेइंग ऑफ" किया जाना चाहिए।

 

ब्रशिंग के लिए उपयुक्त पेंट


एयर ड्राईंग टाइप, जो कि लांग/मीडियम ऑयल लेंथ एल्काइड्स, इमल्शन, डिस्टेम्पर्स ब्रश एप्लीकेशन के लिए उपयुक्त हैं। मीडियम से शार्ट ऑयल लेंथ एल्काइड पर आधारित क्विक ड्राईंग टाइप पेंट तथा जाइलीन जैसे फ़ास्ट एवापोरेटिंग साल्वेंट उपयुक्त नहीं हैं।

 

रोलर एप्लीकेशन

हैंड रोलिंग

वर्तमान में हैंड रोलिंग को मुख्य रूप से सजावट और रख रखाव से संबंधित पेंटिंग के लिए उपयोग की जाती है। रोलर कोटिंग एप्लीकेशन ब्राड, समतल सतहों पर सर्वाधिक उपयुक्त होते हैं। रोलर के लिए कवरिंग सामग्री एक प्लास्टिक स्पंज हो सकती है। जब साथ में लंबा हैंडल एक्स्टेंशन लगा हो, तो आप रोलर का प्रयोग फ्लोर पेंटिंग और न पहुंचने वाली जगहों के लिए कर सकते हैं।

तकनीक

बड़ी जगहों के लिए ट्रे की बजाए बाल्टी से काम करना अधिक सुविधाजनक होता है। एक छिद्रित ग्रिड को बाल्टी के अंदर रखा जाता है, रोलर को पेंट में डुबाया जाता है, और फिर फालतू सामग्री को हटाने और एकसमान फ़ैलाव के लिए छिद्रित ग्रिड के उपर रोल किया जाता है। ट्रे में, एक रिजर्वेयर में एक सिरे पर पेंट को धारित रखा जाता है। रोलर को बदलने के बाद, इसे ट्रे के प्लेटफार्म पर रोल किया जाता है। प्रयोग करने के लिए रोलर को सतह पर आड़े-तिरछे रूप से घुमाएं, ताकि सामग्री एकसमान रूप से फैल जाए। ब्रशिंग के लिए प्रयोग में लाए जाने वाले पेंट्स का आमतौर पर प्रयोग हैंड रोल किया जा सकता है।

लाभ

हालांकि स्प्रेइंग जितनी जल्दी तो नहीं होती, आमतौर पर यह ब्रश एप्लीकेशन से तेज होता है, विशेष रूप से खुरदरी सतह पर। इसका एक अन्य लाभ यह है कि इससे अर्ध कुशल ऑप्रेटर भी किसी हद तक उपयुक्त फिनिश प्राप्त कर लेता है और इसलिए, यह नौसीखिए पेंटर्स द्वारा अधिक पसंद किया जाता है। संकरें और असमान सतहों पर रोलर एप्लीकेशन का ब्रशिंग की तुलना में कोई खास फायदा दिखाई नहीं देता है।

 

मशीन रोलिंग


रोलर कोटिंग एप्लीकेशन का प्रयोग सिर्फ मेटल कंटेनर्स जैसे टिन्स, ड्रम्स, कैग और बैरल्स की पेंटिंग के लिए ही किया जाता है। प्रीसिजन ग्राउन्ड आयरन या स्टील के बने दो छोटे फीड रोलर्स के ज़रिए रबड रोलर पर कोटिंग सामग्री पहुंचाई जाती है, और जिनको प्रेशर के लिए एडजस्ट भी किया जा सकता है ताकि कोटिंग की फिल्म मोटाई को नियंत्रित किया जा सके। शीट, रोलर्स, रबर कवर्ड रोलर और मेटल बैकिंग रोलर के बीच में से गुजरती रहती है। कोटिंग के बाद, भट्टी में कंवेयर बेल्ट्स पर शीट्स गुजरती रहती हैं और फिर उन्हें सुखाया जाता है।

 

रोलर कोटिंग के लिए उपयुक्त पेंट्स में निम्नलिखित गुण अवश्य होने चाहिए:

  • उत्कृष्ट एडहेसन और लोचशीलता
  • पूर्ण अपारदर्शिता
  • परिपूर्ण प्रवाह और एप्लीकेशन विशेषताएं
  • अंतिम उपयोग के लिए पर्याप्त रसायन रेसिस्टेंस
  • एक हार्ड मार-प्रूफ फिल्म फार्मेशन गुण
  • कोट्स के बीच में पर्याप्त इंटरकोट एडहेशन

 

स्प्रे एप्लीकेशन

स्प्रेइंग के लिए उपयुक्त पेंट

आमतौर पर पेंट्स शार्ट आयल अल्काइड्स और संरचनाएं तेजी से वाष्पीकरण होने वाले साल्वेंट्स जैसे जाइलीन और एनसी लैकर पर आधारित होते हैं।

 

परम्परागत स्प्रेइंग

यह विधि एयर स्ट्रीम के अधीन तरल पेंट के जेट के सिद्धांत पर काम करती है। एटमाईजेशन के लिए एयर और पेंट के बीच में सही संतुलन अनिवार्य है और इसलिए, स्प्रेइंग को सफलता पूर्वक किया जा सकता है। स्प्रे पेंटिंग के लिए ज़रूरी सिस्टम अनिवार्य रूप से कम्प्रेस्ड एयर के स्रोत, धूल, पानी, तथा ऑयल को हटाने के लिए फिल्टर, पेंटिंग के लिए कंटेनर तथा स्प्रे गन पर आधारित होता है।

Image